Ghazal · Uploaded by Enjoyers

ishq Hai Tujhko..

इश्क़ है तुझको, तेरा फिर मुस्कुराना लाजमी है ।
बे-इन्तहां हक़, तेरा मुझपर जताना लाजमी है ।।
है मुझे दीदार जबसे, लफ़्ज़ों में कुछ गुफ्तगू है ।
हर दफा इन लफ़्ज़ों में नाम, तेरा आना लाजमी है ।।
नेक दिल थी वो, समझती थी मुझे मैं पाक हूँ ।
फिर मेरे नापाक दिल का भी सुधरना लाजमी है ।।
कह रहा था, थाह ली है सागरों की , डुबकियाँ से ।
इश्क़ के दरिया में, तेरा डूब जाना लाजमी है ।।
                                            —– कवि आनंद ⇒Read Fact Shayari
Advertisements
Dard · Uploaded by Enjoyers

Tanha Na Raha Main !

तन्हा न रहा मैं !
तेरे बिना भी..

तेरी यादों ने मुझे,
तेरे पास ही रखा..⇒Read Love Shayari
Dard · Uploaded by Enjoyers

Rehta Bhi Kaise Wo Charag

रहता भी कैसे वो चराग़
जलता हुआ मुसलसल,
जिनके हाथ बचा रहे थे
आँधियों से..
उन्हीं की तेज़ सांसों से
बूझता चला गया !!⇒Read Fact Shayari
Stop Child and Women Abuse Quotes · Uploaded by Enjoyers

intehaa Sabr Ki Ho Gayi Ab !

इन्तेहाँ सब्र की हो गयी अब !
दरिंदो को..
मिट्टी में समेट दे,
या आसमा में फना कर..⇒Read Dard Shayari
Fact · Uploaded by Enjoyers

Be-Reham Zamaana!

बेशक़ तुने ख्वाहिशों को,
भुलाकर मुस्कुराना सीखा है..
पर जमाना तेरी रूह तक,
कफन का हिसाब मांगेगा..⇒Read Maa-Baap Shayari