R.I.P.

Rest in peace

गम भी बेइंतेहा,
खुशिया बेमिसाल थी,
ज़िन्दगी दो पल का ख़याल थी..
“Rest in peace”⇒Read Top 10 Shayari
Advertisements